loading...
Loading...

Friday, 17 March 2017

बोले नितीश "बीजेपी दिल्ली MCD चुनाव प्रचंड बहुमत से जीतेगी" लालू ने दिखाया आँख

हालिया प्रदर्शन से विपक्षी पार्टियों में खलबली मच गयी है। एक ओर जंहा केजरीवाल ने राज्य निर्वाचन आयोग से दिल्ली नगर निकाय चुनाव बैलेट पेपर से कराये जाने की मांग की है। वही दूसरी ओर नितीश कुमार नेतृत्व जदयू ने दिल्ली के सभी 272 सीटों पर स्वतंत्र रहकर चुनाव लड़ने की घोषणा की है। हालांकि, राज्य निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल की मांग को ख़ारिज कर दिया है। इस बाबत केजरीवाल की बेचैनी और बढ़ गयी है। वही बीजेपी नितीश कुमार के इस फैसले से उत्साहित और प्रसन्न है। जबकि कांग्रेस नितीश कुमार के फैसले से नाखुश है। bjp will win delhi mcd election

तिभाशाली और स्वच्छ छवि वाले व्यक्ति को बीजेपी टिकट देगी
बता दें कि पिछले विधान सभा चुनाव में आप ने किसी भी सीट पर पूर्वांचल उम्मीदवार को नहीं उतारा था। जिस कारण दिल्ली में रह रहे पूर्वांचल वासी केजरीवाल से खासे नाराज और आक्रोशित है। दिल्ली में कुल आबादी का 32 फीसदी वोट पूर्वांचली है। जिसमें सबसे अधिक देवली विधान सभा है। जंहा कुल जनसँख्या का 48 फीसदी वोट पूर्वांचल वासी है। ऐसे में नितीश कुमार का दिल्ली नगर निगम चुनाव में सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारना, बिलकुल सही है। bjp will win delhi mcd election

गौरतलब है कि बिहार के सीएम नितीश कुमार के शपथ ग्रहण समारोह में केजरीवाल भी उपस्थित थे और उन्हें बधाई भी दी । लेकिन नोटबंदी के बाद से बिहार के सीएम नितीश कुमार के तेवर बदले हुए नजर आ रहे है। नितीश कुमार की पीएम मोदी से नजदीकियां बढ़ती जा रही है। नोटबंदी के बाद जंहा पूरा विपक्ष पीएम मोदी के खिलाफ थे। वही नितीश कुमार पीएम मोदी के साथ थे। bjp will win delhi mcd election

गौरतलब है कि बीजेपी ने भी सही समय पर दिल्ली भाजपा प्रदेश में बड़ा फेरबदल किया। जब मनोज तिवारी को दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बना दिया। मनोज तिवारी उत्तरी पूर्वी दिल्ली के सांसद है। जो पूर्वांचल का गढ़ है। ऐसे में दिल्ली नगर निगम चुनाव में बीजेपी और जदयू ने मिलकर केजरीवाल को सफाया करने का मन बना लिया है। हालाकिं, इस रेस में कांग्रेस भी है लेकिन मोदी लहर और पांच राज्यों के परिणाम को देखते हुए ऐसा नहीं लगता है की कांग्रेस बीजेपी और पूर्वांचल के लोगों का सामना कर पायेगी। bjp will win delhi