loading...
Loading...

Saturday, 18 March 2017

‘सभी मस्जिदों के अंदर गौरी-गणेश की मूर्ति बनवा देंगे’, ऐसे हैं यूपी के नए सीएम योगी आदित्यनाथ

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए लगाई जा रही अटकलों के बीच बीजेपी ने गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ को यूपी का सीएम बना दिया। कट्टर हिन्दू नेता कहे जाने वाले योगी का असली नाम अजय सिंह नेगी है। योगी आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड (तब उत्तर प्रदेश का हिस्सा था) में हुआ था। योगी आदित्यनाथ के नाम सबसे कम उम्र (26 साल) में सांसद बनने का रिकॉर्ड है। उन्‍होंने पहली बार 1998 में लोकसभा का चुनाव जीता था। सिर्फ इतना ही नहीं सबसे ज्यादा विवादित बयान देने वाले नेताओं में भी योगी का नाम सबसे ऊपर आता है।


योगी आदित्याथ ने कई बार विवादित बयान दिए है। उन्होंने अपने लगभग सभी चुनावी भाषणों में आरोप लगाया था कि अखिलेश सरकार की योजनाओं का लाभ ज्यादातर मुस्लिमों को दिया जाता है। चाहे लव-जिहाद का मुद्दा हो यो मस्जिदों में मूर्ति लगवाने की बात योगी के कई विवादित बयानों ने सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोरी हैं। आई जानते हैं योगी के टॉप 6 विवादित बयानों के बारे में, जो काफी वायरल हुए।
योगी आदित्यनाथ के कुछ विवादित बयान –

फरवरी 2015 में योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर उन्हें मौका मिलेगा तो वे देश के सभी मस्जिदों के अंदर गौरी-गणेश की मूर्ति बनवा देंगे।
साल 2015 में ही योगी आदित्यनाथ ने कहा था ‘आर्यावर्त ने आर्य बनाए, हिंदुस्तान में हम हिंदू बना देंगे। हम पूरी दुनिया में भगवा झंडा फहरा देंगे।’
अगस्त 2014 में योगी आदित्यनाथ का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें वह अपने समर्थकों से कहते सुनाई दे रहे थे, ‘हमने फैसला किया है कि अगर वे एक हिंदू लड़की का धर्म परिवर्तन करवाते हैं तो हम 100 मुस्लिम लड़कियों का धर्म परिवर्तन करवाएंगे।’ इसपर योगी ने कहा था कि वे इस वीडियो पर कोई सफाई नहीं देंगे।

इतना ही नहीं बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान ने जब असहिष्णुता पर बयान दिया तो आदित्यनाथ ने उनकी तुलना पाकिस्तान में बैठे आतंकी हाफिज सईद से कर दी थी। योगी आदित्यनाथ ने शाहरुख की तुलना हाफिज सईद से करते हुए कहा कि हाफिज सईद और शाहरुख की जुबान में कोई फर्क नहीं है। उन्होंने कहा कि देश के वातावरण को खराब करने के लिए एक साजिश रची जा रही है, जिसमें अब शाहरुख भी सम्मिलित हो गए हैं।
अप्रैल 2015 में आदित्यनाथ ने कहा था कि हरिद्वार में विश्वप्रसिद्ध तीर्थस्थल ‘हर की पौड़ी’ पर गैर हिंदुओं का प्रवेश बंद होना चाहिए।
योगी ने ये भी कहा था कि मक्का में गैर मुसलमानों को जाने की इजाजत नहीं है, वेटिकन सिटी में गैर ईसाइयों को प्रवेश नहीं मिलता तो भला हमारे यहां हर कोई कैसे आ सकता है।