loading...
Loading...

Tuesday, 14 March 2017

भाजपा सरकार वोट देने वालों की भी है न देने वालों की भी है, आँखों में आँशु आ जायेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आज के संबोधन की खास बातें
-सरकार सबकी होती है, सबके लिए होती है और सबको साथ लेकर चलने की होती है
-सरकार को भेदभाव करने का हक नहीं है न भाजपा इसमें विश्वास करती है
-भाजपा सरकार वोट देने वालों की भी है न देने वालों की भी है
-लोकतंत्र में सरकार बहुमत से बनती है लेकिन सर्वमत से चलती है
-मुझसे पूछा जाता है इतनी मेहनत क्यों करते हो इससे ज्यादा सौभाग्य की बात क्या होगी
-तीसरा मैंने कहा था जो करेंगे प्रमाणिकता के साथ करेंगे
-दूसरी बात मैंने कही थी कि हम परिश्रम की पराकाष्ठा तक करेंगे
-मैंने कहा था हमसे गलती हो सकती है पर गलत इरादे से कोई काम नहीं करेंगे
-मैं आपको भरोसा देता हूं कि जो भी आपकी आशाएं, आकांक्षाएं हैं उन्हें हमारे साथी पूरा करने की कोशिश करेंगे

-पांचों राज्यों के मतदाताओं का अभिवादन, जो आपने भरोसा किया उसका धन्यवाद
-2022 तक हर इंसान को जोड़ने को बल देने का काम इन 5 राज्यों के नतीजों ने किया है
-2022 भारत की आजादी के 75 साल में हर संकल्प को पूरा करने का मूड मिल जाए तो देश पीछे नहीं रहेगा
-हम किसी के काम को अस्वीकार नहीं करते जिसे जो मौका मिला उसने काम किया
-मैं चुनाव के हिसाब किताब से चलने वाला नहीं हूं




-हमें सौगात में कभी कुछ नहीं मिला एक एक हिस्सा लक्ष्य निर्धारित करके पाया है।
-इसके लिए अमित शाह समेत सभी राज्यों के कार्यकर्ता इस विजय यात्रा के यशभागी हैं
-हिंदुस्तान के हर क्षेत्र में भाजपा ने पहले से अच्छा कर के दिखाया है
-एक बार देश के गरीब के कंधों पर खुद का बोझ उठाने की ताकत आ जाएगी, मध्यम वर्ग का बोझ खुद कम हो जाएगा।
-देश की सबसे बड़ी ताकत देश का गरीब है
-जितना गरीब का विकास होगा उससे ज्यादा समाज और देश का विकास होगा
-ये पं दीनदयाल उपाध्याय का जन्मशती का वर्ष है ऐसे में उनके लिए काम करना हमारा सौभाग्य है।
-50-60 साल तक इस पार्टी की सेवा करने वाले नेताओं के लिए हमें जनसामान्य के लिए काम करते हुए सेवा करनी है।
-सत्ता सेवा करने का अवसर होती है इस बात को लेकर आगे बढ़ना है।
-किसी भी ऊंचे पेड़ पर जब फल लगते हैं तो वो झुकने लगता है, भाजपा पर जीत के फल लगे हैं तो झुकने का जिम्मा बनता है
-किसको परास्त किया मैं इस दायरे में सोचने वाला नहीं हूं
-देश का गरीब कहता है कि मैं अपने बलबूते आगे जाना चाहता हूं, आप अवसर दीजिए मेहनत मैं करूंगा

     


-गरीब अब कहता है आप मेरे लिए अवसर पैदा कीजिए काम मैं करूंगा।
-अभूतपूर्व रूप से जागरुक महिलाओं के सपनों का न्यू इंडिया
-इमोशनल इश्यू होने के बावजूद भी इतना मतदान होने से नए हिंदुस्तान के दर्शन हो रहे हैं मुझे
-भारी मतदान के बाद भारी विजय पॉलीटिकल पंडितों को सोचने पर मजबूर करता है
-इमोशनल इश्यू के सिवाय विकास एक मुश्किल मुद्दा होता है
-इन पांच राज्यों के चुनाव को मैं नए हिन्दुस्तान की नई नींव के तौर पर देख रहा हूं
-लोकतंत्र में चुनाव सरकार बनाने का काम करते हैं लेकिन ये लोकशिक्षण का काम भी करते हैं
-हर त्योहार हमें अपने भीतर की बुराइयों को खत्म करते हुए आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है
-हमारे सारे त्योहार-उत्सव आगे बढ़ने की सीख देते हैं
-आप सभी को होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।
News credit:https://indianpoiitics.blogspot.in