loading...
Loading...

Wednesday, 1 March 2017

कन्हैया कुमार को तो दीपावली होली से नफरत है, पर उमर खालिद ईद बकरीद गर्व से मनाता है

आप देख सकते है यही है वामपंथी विचारधारा और उसका सच 
ये वामपंथी केवल हिन्दू धर्म के ही विरोधी है, बाकि इनको और किसी धर्म से समस्या नहीं है 

कोई हिन्दू से वामपंथी बनता है, तो वो हिन्दू से घृणा करने लगता है, उसे हिन्दू त्यौहार और हिन्दू धर्म से घृणा होती है, वो उसका मजाक बनाता है और खुश होता है 
पर कोई मुस्लमान से वामपंथी बनता है, वैसे कोई मुसलमान से वामपंथी बनता ही नहीं है, केवल हिन्दू से वामपंथी बने शख्स को मुर्ख बनाने के लिए वो टोली में शामिल हो जाता है, खैर 
कोई मुसलमान से वामपंथी होता है, फिर भी वो मुसलमान रहता है, उसे इस्लाम से नफरत और समस्या नहीं होती, वो अल्लाह के नारे लगाता है, कुरान ईद बकरीद सबका पालन करता है 

उदाहरण आपके सामने 2 है, कन्हैया कुमार और 

 कन्हैया हिन्दू से वामपंथी बना ,
उमर खालिद मुसलमान से वामपंथी बना (स्वांग रच रहा है वामपंथी होने का)

हिंदू कन्हैया वामपंथी बन कर हिंदू धर्म का दुश्मन बन गया और भारत के टुकड़े करने का सपना देखने लगा ..
मुसलमान उमर खालिद वामपंथी हो कर भी इंशा "अल्लाह" और नारे तकबीर के नारे लगाता रहा और पाकिस्तान ज़िंदाबाद बोलता रहा ......

हिंदू वामपंथी कन्हैया फाँसी चढ़े भगत सिंह के समर्थन मे नारे नही लगाता ..
मुसलमान वामपंथी उमर खालिद अपने आतंकी अफजल के समर्थन मे सब को ले आता है....

हिंदू वामपंथी कन्हैया को मालदा से कोई मतलब नही है, हिन्दुओ पर अत्याचारों से कोई मतलब नहीं, उसे हिन्दू इंसान नजर ही नहीं आते  ..
पर मुसलमान वामपंथी उमर खालिद को कश्मीर से बहुत प्यार है, जिहादियों और आतंकियों से प्यार है क्योंकि वो मुस्लिम है  ......

वामपंथ यही है ..........
देख लो ध्यान से , क्योंकि शायद बाद मे समय ना मिले

No comments: