loading...
Loading...

Friday, 17 March 2017

खुसखबरी: भाजपा सांसद ने मुसलमानों को 9 महीने में गांव छोड़ने का दिया अल्टीमेटम

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलने के बाद उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आ गई है। जिसके बाद बरेली के एक गांव में मुस्लमानों को गांव छोडकर जाने के लिए धमकी वाले पोस्टर देखने को मिले है। इन पोस्टरों पर लिखा हुआ है कि मुस्लामानों का 9 महिनें में गांव छोड़कर जाना होगा।
दरअसल मामला बरेली से 70 किलोमीटर दूर जियांगला गांव का हैं जहां पर आधा दर्जन जगहों पर ऐसे पोस्टर लगे हुए है जिन पर लिखा हुआ है कि मुस्लमानों का 9 महिनों में यह गांव खाली करके जाना होगा। इस घटना के बाद गांव में तनाव का वातावरण फैल गया हैं। और इन पोस्टरों पर हिन्दी में लिखा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आ चुकी है और अब इस गांव में हिंदू वही करने वाले है जो अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने देश के मुस्लमानों के साथ किया।
इन पोस्टरों पर लिखा हुआ है कि मुस्लमानों काे इस साल के आखिर तक यह गांव छोडकर जाना होगा। इनके अलावा इन पोस्टरों पर एक भाजपा सांसद का नाम भी लिखा हुआ हैं खबरों के अनुसार उस भाजपा सांसद का नाम अभी तक सामने नहीं आया हैं।
पुलिस की कार्यवाही के अनुसार अधिकतर जगहों से पोस्टरों काे हटा दिया गया है। मगर अभी भी कुछ दिवारों पर पोस्टर चिपके हुए हैं। 

दिवारों पर चिपके पोस्टरों में मुस्लमानों काे धमकी दी गई है कि यदि वे इस साल के आखिरी तक इस गांव को छोड़कर नहीं जाते है तो उन्हे इसके गलत परिणाम भुगतने होंगे।
गांव वालो के अनुसार इन पोस्टरों को सोमवार की सुबह को देखा गया था और उन्हे नहीं पता कि यह सब किसने किया है। अंग्रेजी अखबार के अनुसार गांव के मुखिया रेवा राम ने कहा कि हम सब लोग करीब आधी रात को सोने के लिए गए और जब सुबह उठ कर देखा तो इस तरह के पोस्टर सभी जगहों पर चिपके हुए थे। जिसके बाद गांव के मुखिया और गांव के कुछ प्रभावशाली लोगों के द्वारा पुलिस में इस मामले की शिकायत दर्ज करवाई गई।
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हमने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामले की शिकायत दर्ज कर ली है। इसके साथ ही पुलिस ने गांव के लगभग पांच लोगों को गिरफ्तार भी किया है और उनसे अभी तक पूछताछ चल रही है। पुलिस की जांच के अनुसार इस गांव में करीब 2500 लोग रहते है जिनमें लगभग 200 से 250 मुस्लिम परिवार के लोग रहते है। गांव वालों का कहना है कि इससे पहले गांव में ऐसा कभी भी नहीं हुआ और सब लोग भाईचारे तथा शांति के साथ रहते है।
फिलहाल पुलिस ने सुरक्षा के लिए गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया है।