loading...
Loading...

Wednesday, 15 March 2017

16 साल की सिंगर के खिलाफ 42 मौलवियों का फतवा, बोली- फिर भी गाऊंगी

अपने सुरों से देश के कोने-कोने में लोगों को प्रभावित करने वाली नाहिद आफरीन के खिलाफ 42 मौलवियों ने फतवा जारी किया है। आफरीन 2015 में इंडियन आइडल जूनियर की रनर अप यानी दूसरे स्थान पर रहीं थी। इस फतवा के मुताबिक, 25 मार्च को असम के लंका इलाके के उदाली सोनई बीबी कॉलेज में 16 साल की नाहिद को परफॉर्म करना है जो पूरी तरह से 'शरिया के खिलाफ' है। 16 वर्षीय नाहिद के खिलाफ यह फतवा इसलिए भी जारी किया क्योंकि यह कार्यक्रम कब्रिस्तान और मस्जिद के नजदीक कराया जा रहा है।
असम में 10वीं क्लास में पढ़ने वाली आफरीन के खिलाफ 42 मौलवियों ने फतवा इसलिए भी जारी कर दिया क्योंकि लड़की ने आईएस विरोधी गाना गाया था। नाहिद ने मौलवियों के फतवे पर विरोध जताते हुए कहा कि उनकी आवाज खुदा का तोहफा है, जिसका सही इस्तेमाल किया जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने फतवा जारी होने के बाद कहा कि मैं काफी चौंक गई थी और अंदर से टूट गई, लेकिन कई मुस्लिम सिंगर्स ने मुझे प्रेरणा दी। मैं धमकियों से डरकर अपना संगीत नहीं छोड़ूंगी।
आईएस आतंकियों के खिलाफ गाया था गाना
एडीजी (स्पेशल ब्रांच) पल्लब भट्टाचार्य ने कहा कि पुलिस मामले की इस पहलू से भी जांच कर रही है कि कहीं यह फतवा नाहिद के आतंकवाद और आईएसआईएस के खिलाफ गाए गाने की वजह से तो नहीं हैं। पुलिस ने कहा कि मामले की नजाकत को देखते हुए नाहिद और उनके परिवार को सुरक्षा प्रदान की जाएगी।