loading...
Loading...

Monday, 27 February 2017

आतंकियों को सपोर्ट करने वाले एंटी-नेशनल DU स्टूडेंट को रिजिजू ने दिया जवाब ,धुंआ उड़ा दिया गैंगों का

एबीवीपी के खिलाफ मुहिम छेड़ने वाली करगिल शहीद की बेटी और डीयू (दिल्ली यूनिवर्सिटी) की स्टूडेंट गुरमेहर कौर के खिलाफ केंद्रीय मंत्री रिजिजू भी उतर आए हैं। रिजिजू ने ट्विटर पर लिखा, “इस स्टूडेंट का दिमाग किसने खराब किया? 

नेशनलिज्म को डिफाइन (परिभाषित) नहीं किया जा सकता। लेकिन जो आतंकियों को सपोर्ट करेंगे, उन्हें तो एंटी-नेशनल ही कहा जाएगा।” गुरमेहर ने कहा था, “मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं, जंग ने मारा था।” कमजोर होने के चलते भारतीय राजा नहीं हारे…


– “चंद ब्रिटिश रूलर्स ने भारत पर सदियों राज किया। यही नहीं कई ठगों ने भारत के राजाओं को हराया।”
– “ये इसलिए नहीं हुआ कि भारतीय कमजोर थे बल्कि इसलिए कि एक जयचंद हमेशा से मौजूद रहा है।”
– “फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन (बोलने की आजादी) की आड़ में कुछ स्टूडेंट्स भारत को बांटने की कोशिश कर रहे हैं।”
– “मेरा जन्म उस गांव में हुआ, जिसपर कुछ दिन चीन का कब्जा था।
– “मैं अपने देश को बचाने वाले लोगों के साथ बड़ा हुआ। वही किया जो हर अरुणाचली करता है।”
– “अगर भारत एक मजबूत देश नहीं बनेगा तो आजादी का क्या मतलब रह जाएगा?”
‘अफजल गुरु जैसे आतंकियों को सपोर्ट करने वाले एंटी-नेशनल कहलाएंगे’
– रिजिजू ने लिखा, “किसी के पास राष्ट्रवाद को समझाने का एकाधिकार नहीं है लेकिन जिसने अफजल गुरु और आतंकियों जैसे देश बांटने की कोशिश की, उसे तो एंटी नेशनल ही माना जाएगा।”
– “कुछ लोगों का कहना है कि उन्हें भारत में आजादी की जरूरत है। उन लोगों से कहना चाहता हूं कि भारत में छिपने के बजाय पड़ोसी देशों में होने वाले टॉर्चर का सामना करें।”

No comments: