loading...
Loading...

Tuesday, 28 February 2017

"लड़की को गाली देना अभिव्यक्ति की आज़ादी नहीं है, देश को गाली देना अभिव्यक्ति की आज़ादी है क्या ?"


सेक्युलर और वामपंथी तत्वों ने भारत में इतना दोगलापन और दोहरा रैवया फैलाया हुआ है 
की उसपर रोज रोज न्यूज़ बनाते बनाते हम भी थक चुके है 
इनके तो रगों में ही जैसे खून नहीं बल्कि दोगलेपन का गन्दा पानी बहता है 

गुरमेहर कौर नाम की झूठी और वामपंथी महिला इन दिनों सेक्युलर मीडिया की हीरोइन बनी हुई है 
ये महिला बताती है की, इसके पिता कारगिल युद्ध के शहीद थे 
जो की कोरा झूठ है, ये महिला पाकिस्तान की पक्की समर्थक है पाकिस्तान को आज़ादी की बधाई भी हर साल देती है, देखें पिछली बार भी इस महिला ने पाकिस्तान को आज़ादी की बधाई दी थी 

No comments: