loading...
Loading...

Monday, 20 February 2017

कश्मीरी उपद्रवियों के पक्ष में बोलने वाले नेताओं को करे देशद्रोही घोषित सज़ा मिले:योगी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा ”सेना अगर ये कहती है कि वो कश्मीर के बच्चों को पकड़ेगी तो इसे लोग पसंद नहीं। ये बहुत ज्यादती होगी” आजाद ने यह भी कहा कि पिछले साल 1 हजार बच्चों पर पैलेट गन का इस्तेमाल हुआ, 100-200 बच्चों की आंखें चली गईं।

कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने कहा, ‘सेना प्रमुख का इससे कोई लेना देना नहीं हैं, कोई कानून के खिलाफ जाता है तो वो पुलिस और स्थानीय प्रशासन है। फ़ौज का काम है आतंकी गतिविधियों में प्रशासन की मदद करे और दायरे में रहे या तो सेना प्रमुख किसी चीज से उत्साहित हो गये हैं या सयंम खो बैठे हैं।’ वहीं कांग्रेस से सांसद रंजीत रंजन ने कहा, ‘वो भारत के नागरिक हैं उनके साथ ऐसा व्यवहार नहीं कर सकते, अगर आप उनके साथ आतंकियों जैसा व्यवहार करेंगे तो ये स्थिति बिगाड़ने वाला कदम होगा। क्या आर्मी चीफ बिपिन रावत के बयान का विरोध करने वाले नेताओं को देशद्रोही कहना उचित होगा ?

1 comment:

Rajeev Kumar Singh said...

Yes, jo aatanki supporting me lage hain sale deshdrohi hain